Free Shipping on all prepaid orders

शुभ दीपावली

         शुभ दीपावली

आई रे आई जगमगाती रात हैं आई
दीपों से सजी टिमटिमाती बारात हैं आई

हर तरफ है हँसी ठिठोले
रंग-बिरंगे,जग-मग शोले
परिवार को बांधे हर त्यौहार
खुशियों की छाये जीवन में बहार

सबके लिए हैं मनचाहे उपहार
मीठे मीठे स्वादिष्ट पकवान
कराता सबका मिलन हर साल
दीपावली का पर्व सबसे महान

आई रे आई दीपावली हैं आई

फिर से सजेगी हर दहलीज़ फूलों से
फिर महक उठेगी रसौई पकवानों से

मिल बैठेंगे पुराने यार एक दूजे से
फिर से सजेगी महफ़िल हँसी ठहाको से

चारों तरफ होगा खुशियों का नज़ारा
सजेगा हर आँगन दीपक का उजाला

डलेगी रंगों की रंगोली हर एक द्वार
ऐसा हैं हमारा दीपावली का त्यौहार

मेरी दीपावली (व्यस्त जीवन की भावना )

ना फुलजड़ी फटाके बुलाते मुझे
ना गुलाब जामुन की खुशबू ललचाती मुझे

ना नए कपड़ों की चाहत खीचें मुझे
ना गहनों चमक लुभाए आये मुझे

मुझे तो चाहिए कुछ अनमोल घड़ी
जब फिर से जुड़ती अपनों से कड़ी

दिवाली की रंगत ना भाती मुझे
बस माँ की गोद ही याद आती मुझे

नहीं वो बचपन की दिवाली सजे
बस मुझे मेरे अपनों का साथ मिले
बस साथ मिले ||

दीपावली की हार्दिक शुभकामनाएं

 

Leave a comment

Social Proof Tools